शेयर मार्केट से ऐसे कमाए पैसा – How To Earn Money in Stock Market

How To Earn Money in Stock Market

शेयर बाजार में निवेश करना एक लोकप्रिय तरीका है जिससे लोग अपने धन को बढ़ाने की कोशिश करते हैं। हालाँकि, इसमें जोखिम भी शामिल होता है। इसलिए, शेयर बाजार से पैसा कमाने के लिए एक सही रणनीति और ज्ञान आवश्यक है।

इस लेख में, हम शेयर बाजार क्या है?, शेयर बाजार में निवेश क्यों करें? शेयर बाजार में निवेश कैसे शुरू करें?, विभिन्न खंडों और तरीकों के बारे में जानेंगे जिनसे शेयर बाजार से पैसा कमाया how to earn money in stock market जा सकता है।

Table of Contents

शेयर बाजार क्या है?

शेयर बाजार, जिसे स्टॉक मार्केट भी कहा जाता है, वह स्थान है जहाँ कंपनियों के शेयरों की लेन- देन होती है। बीएसई (Bombay Stock Exchange) और एनएसई (National Stock Exchange) भारत के प्रमुख स्टॉक एक्सचेंज हैं।

शेयर बाजार में निवेश क्यों करें?

शेयर बाजार में निवेश करने के कई लाभ हैं, जैसे की-

  • धन का संवर्धन: लंबी अवधि में निवेश से आपके धन में वृद्धि होती है।
  • लिक्विडिटी: शेयरों को आसानी से खरीदा और बेचा जा सकता है।
  • डाइवर्सिफिकेशन: विभिन्न कंपनियों और उद्योगों में निवेश से जोखिम कम होता है।
  • डिविडेंड आय: कुछ कंपनियाँ नियमित रूप से अपने शेयरधारकों को डिविडेंड का भुगतान करती हैं।

शेयर बाजार में निवेश कैसे शुरू करें?- How To Earn Money in Stock Market

1. डीमैट अकाउंट खोलें

शेयर बाजार में निवेश शुरू करने के लिए सबसे पहले आपको एक डीमैट अकाउंट खोलना होगा। डीमैट अकाउंट वह खाता है जिसमें आपके द्वारा खरीदे गए शेयर इलेक्ट्रॉनिक रूप में रखे जाते हैं।

2. ब्रोकरेज अकाउंट खोलें

डीमैट अकाउंट के साथ-साथ आपको एक ब्रोकरेज अकाउंट भी खोलना होगा। यह खाता आपको शेयर बाजार में लेन-देन करने में सहायता करता है। भारत में कई प्रसिद्ध ब्रोकरेज फर्म्स हैं जैसे कि ज़ेरोधा, एंजेल ब्रोकिंग, अपस्टॉक्स आदि।

3. शोध और कंपनियों का चयन

शेयर बाजार में निवेश करने से पहले अच्छी कंपनियों का गहन शोध करें। उनकी वित्तीय स्थिति, भविष्य की संभावनाएँ और उद्योग की स्थिति का अध्ययन करें।

4. निवेश की योजना बनाएं

निवेश करते समय एक ठोस रणनीति बनाएं। यह रणनीति आपकी निवेश अवधि, जोखिम लेने की क्षमता और वित्तीय लक्ष्यों पर आधारित होनी चाहिए।

शेयरों का मूल्यांकन कैसे करें?

1. मूलभूत विश्लेषण (Fundamental Analysis)

मूलभूत विश्लेषण में किसी कंपनी की वित्तीय स्थिति, प्रबंधन की गुणवत्ता, उद्योग की स्थिति और आर्थिक कारकों का अध्ययन शामिल होता है। यह दीर्घकालिक निवेशकों के लिए अधिक महत्वपूर्ण है।

2. तकनीकी विश्लेषण (Technical Analysis)

तकनीकी विश्लेषण में पिछले कीमतों और वॉल्यूम डेटा के आधार पर भविष्यवाणी की जाती है। यह अल्पकालिक निवेशकों के लिए अधिक उपयोगी है।

शेयर बाजार के खंड

शेयर बाजार से पैसा पाने के लिए सबसे पहले आप एक सेगमेंट चुनें और उसमें महारत हासिल करें। किसी भी एक सेगमेंट पर महारत हासिल किए बिना ट्रेडिंग करने से नुकसान होने की संभावना रहती है।

नकद खंड (कैश सेगमेंट)

नकद खंड जिसे Equity segment या कॅश सेगमेंट भी कहा जाता है, इसमें हर तरह के स्टॉक्स खरीदना और बेचना शामिल है। इसे इंट्रा-डे या डिलीवरी ट्रेडिंग के रूप में भी जाना जाता है।

फायदे:
  • कम उत्तोलन: इस खंड में उत्तोलन कम होता है, जिससे जोखिम कम हो जाता है।
  • धैर्य की जरूरत: इसमें धैर्य की आवश्यकता होती है क्योंकि स्टॉक्स को लंबे समय तक होल्ड किया जा सकता है।
  • जोखिम कम: जोखिम अपेक्षाकृत कम होता है।
नुकसान:
  • नुकसान की भरपाई जल्दी नहीं होती: अगर नुकसान होता है, तो इसकी भरपाई करने में समय लग सकता है।
  • निवेश और मुनाफा: थोड़ा निवेश और थोड़ा मुनाफा होने की संभावना है।
  • फंसना: अगर स्टॉक गिरावट पर हो, तो उससे निकलना मुश्किल हो सकता है।
  • बाजार का फायदा: अगर बाजार ऊपर जाता है, तो इसका फायदा मिलता है, लेकिन बाजार के नीचे जाने पर नुकसान उठाना पड़ सकता है।

व्युत्पन्न खंड (डेरिवेटिव सेगमेंट)

डेरिवेटिव खंड में फ्यूचर, ऑप्शन, ऑप्शन हेजिंग, कमोडिटी और मुद्रा (करेंसी) शामिल हैं।

फ्यूचर:
  • ख़तरा ज़्यादा है: इसमें उच्च जोखिम होता है।
  • अधिक लाभ: लाभ भी अधिक हो सकता है।
  • लॉट साइज़: लॉट में काम करना पड़ता है।
  • तकनीकी विश्लेषण: तकनीकी विश्लेषण का ज्ञान आवश्यक है।
  • धैर्य: धैर्य की जरूरत होती है।
  • गैप अप/गैप डाउन: अचानक खुलने वाले गैप से बड़ा नुकसान हो सकता है।
ऑप्शन:
  • कम जोखिम: इसका जोखिम कम होता है।
  • कम लागत: इसकी लागत कम होती है।
  • अत्यधिक लाभ: लाभ बहुत अधिक हो सकता है (कभी-कभी)।
  • नुकसान की संभावना: 95% नुकसान की संभावना।
  • ठीक होने की संभावना: 1% की संभावना।
  • ज्ञान आवश्यक: ज्ञान आवश्यक है।
  • तत्काल धन प्राप्ति: लोग इसे तेजी से धन प्राप्त करने के लिए चुनते हैं।

ऑप्शन हेजिंग / ऑप्शन राइटिंग:

  • अधिक पैसा: इसमें ज्यादा पैसा (कम से कम 2 लाख) की जरूरत होती है।
  • ज्ञान महत्वपूर्ण: ज्ञान महत्वपूर्ण है।
  • नुकसान की संभावना: 10%।
  • जीतने की संभावना: 90%।
  • नुकसान की भरपाई: नुकसान की भरपाई तुरंत हो सकती है।
  • बाजार की स्थिति: बाजार की किसी भी स्थिति में पैसा कमा सकते हैं।
  • शांत नींद: इसमें कम तनाव होता है।
  • गारंटी: पैसा कम मिलता है, लेकिन गारंटी होती है।

मुद्रा व्यापार (करेंसी ट्रेडिंग)

मुद्रा व्यापार में डॉलर, पाउंड आदि का कारोबार शामिल है। इसमें कम हानि का मतलब कम लाभ होता है, क्योंकि मुद्रा अधिक नहीं चलती है।

फायदे:
  • अधिक लाभ: कम हानि का मतलब कम लाभ।
  • सतत व्यापार: डॉलर और पाउंड का सतत कारोबार होता है।

कमोडिटी ट्रेडिंग

कमोडिटी ट्रेडिंग में सोना, चांदी, तेल आदि का व्यापार होता है। इसमें भी उच्च लाभ की संभावना होती है।

जोखिम प्रबंधन

1. डाइवर्सिफिकेशन

अपने निवेश को विभिन्न उद्योगों और कंपनियों में विभाजित करें। यह किसी एक कंपनी या उद्योग के खराब प्रदर्शन से आपके पूरे पोर्टफोलियो पर पड़ने वाले प्रभाव को कम करता है।

2. स्टॉप-लॉस

स्टॉप-लॉस एक प्री-डिफाइन्ड कीमत होती है जिस पर आप अपने शेयर बेचने का निर्णय लेते हैं ताकि नुकसान को कम किया जा सके।

3. समय-समय पर समीक्षा

अपने निवेश की समय-समय पर समीक्षा करें और जरूरत के अनुसार बदलाव करें।

टैक्सेशन

1. शॉर्ट-टर्म कैपिटल गेन टैक्स

यदि आप एक साल से कम अवधि के लिए शेयर रखते हैं और लाभ कमाते हैं, तो आपको शॉर्ट-टर्म कैपिटल गेन टैक्स देना होगा।

2. लॉन्ग-टर्म कैपिटल गेन टैक्स

एक साल से अधिक अवधि के लिए शेयर रखने पर मिलने वाले लाभ पर लॉन्ग-टर्म कैपिटल गेन टैक्स लागू होता है।

निष्कर्ष

शेयर बाजार में निवेश करना how to earn money in stock market एक बेहतरीन तरीका है जिससे आप अपने वित्तीय लक्ष्यों को हासिल कर सकते हैं। हालांकि, इसमें शामिल जोखिमों को समझना और एक सुविचारित रणनीति अपनाना आवश्यक है। सही ज्ञान और अनुसंधान के साथ, आप अपने निवेश को सफल बना सकते हैं।

शेयर बाजार में निवेश करने से पहले हमेशा अपने वित्तीय सलाहकार से परामर्श करें और अच्छी तरह से शोध करें। इससे आपको बाजार की बेहतर समझ होगी और आप अधिक सूचित निर्णय ले सकेंगे।

FAQs

१. शेयर बाजार में निवेश कैसे शुरू करें?
२. कौन से खंड में निवेश करना सुरक्षित है?
३. शेयर बाजार में निवेश के लिए न्यूनतम राशि कितनी होनी चाहिए?
४. तकनीकी विश्लेषण क्या है?
५. ऑप्शन हेजिंग क्या है?

Leave a Comment

ये तो अभी शुरुवात है, पिक्चर अभी बाकी है…पीएम मोदी ऑप्शन ट्रेडिंग: अब ये समझ लीजिये फिर कभी नहीं होगा नुकसान शेयर्स क्या होता है?